- Barmer me corona ki dustak Barmer news track

Barmer me corona ki dustak Barmer news track


Barmer me corona ki dustak Barmer news track


Barmer me corona ki dustak Barmer news track
बाड़मेर जिला  गुरुवार को कोरोना पॉजिटिव की सूचि में आ चुका है।  बाड़मेर जिले में सेड़वा क्षेत्र के  सरहदी गांव कितनोरिया में एक व्यक्ति क्रोना पॉजिटिव पाया गया है।

 कितनोरिया के  राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक अब्दुल रहमान की रिपोर्ट कोरोना वायरस पॉजिटिव आई ,जिला प्रशासन को सुचना मिलते ही  अर्धरात्रि 12 बजे गांव में कर्फ्यू लगा तथा सीमाएं सील कर दी गई हैं।
  कितनोरिया गांव को पूरी तरह से सीज कर दिया गया तथा गांव में पूरी तरह से कर्फ्यू लगा दिया गया है। ,कोरॉना वायरस पॉजिटिव प्रधानाध्यापक जयपुर से दो दिन पहले ही दो साथियो के साथ जयपुर से ड्यूटी पर लौटा था , तथा बाहरी जिले से आने के चलते इनके नमूने जाँच के लिए भेजे गए थे जिसके चलते इनकी करोना वायरस की रिपोर्ट देर पॉजिटिव पाई गई रात जिसकी जानकारी  जिला कलेक्टर विश्राम मीणा को मिली ,मीणा ने रात्रि को ही तुरंत  कार्यवाही कर गांव और गाव के आसपास के क्षेत्र को सील कर गांव में कर्फ्यू लगा दिया ,
  
जिला कलेक्टर विश्राम मीणा  बताया की रात को गांव की सरहदें सीज कर कर्फ्यू लगा दिया ,मेडिकल टीमों को घर घर स्क्रीनिंग के लिए भेज दिया गया हैं ,गांव को सेनेटाइज करवाया जा रहा हैं साथ ही गांव से किसी को बाहर जाने और गांव के अंदर आने पर प्रतिबंध लगा दिया ,जिल प्रशासन प्रिंसिपल के कॉन्टेक्ट ट्रेस करने में जुट गया हैं की जयपुर से आने के बाद प्रिंसिपल दिन किन किन से मिला ।


कोरोना पॉजिटिव का पहला मामला आया सामने

कितनोरिया स्कूल का प्रधानाचार्य अब्दुल रहमान पाया गया पॉजिटिव
जयपुर के रामगंज से 2 दिन पहले कितनोरिया लौटा था प्रधानाचार्य
रविवार को जयपुर से तीन साथियों के साथ कितनोरिया आया था प्रधानाचार्य
जिले में पहला संक्रमित पाए जाने के बाद प्रशासन में मची खलबली
प्रशासन ने कितनोरिया पंचायत में देर रात से कर्फ्यू लगा कर घर-घर स्क्रीनिंग के दिये आदेश
रामगंज जयपुर से चला थार वासियों के लिए पावणा बनाकर आखिर जहाँ नहीं पहुँचना था वही आ पहुँचा....!

कुछ सवाल जो उठने लाजमी हैं


लगभग 600km दूर कोरोना पहुँचा कैसे....?
सड़क से साथ रेल,हवाई रास्ते पूर्णतयः बंद है...?
सम्पूर्ण जिलों की सीमाएं पूर्णतयः सील है...?
रामगंज में तो महाकर्फ़्यू  लगा हुआ है पिछले कई दिन से तो फिर कोरोना निकला कैसे वहाँ से...?
मान लो निकल भी गया तो इतने जिलों की नाकाबंदी कैसे पार कर ली...?
सवालिया निशान पुलिस पर लगाएं या राजनेताओं पर....?
कल ही एक ऑडियो वायरल हुआ था राजनेता का जिसमे वो कर्फ़्यू में आराम से आवाजाही करवा रहे थे अपने चहेते लोगों को....?
आख़िर क्यो किया जा रहा है राजनीतिक लाभ के लिए थार की भोलीभाली जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़....?

बिना उच्च स्तर की पहुँच के कोरोना का बाड़मेर तक पहुँचना मुश्किल था.....!
वरना यह पहुँचा कहा से आसमान से टपका या जमीन फाड़कर निकला....?

अब धोरीमन्ना में कर्फ्यू लगा दिया गया,तो जनाब पहले बाड़मेर में लॉक डाउन धारा 144 लागू ही तो थी,कर्फ़्यू रामगंज में था ही फिर भी कोरोना मस्ती से इतना सफर कर गया आखिर कैसे....?

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ